पर्यावरण संरक्षक

Wednesday, February 16, 2011

श्रीमती कुसुम जी ने पुत्री के जन्म के उपलक्ष्य में आम का पौधा लगाया


श्रीमती कुसुम जी ने पुत्री के जन्म के उपलक्ष्य में आम का पौधा लगाया है।
‘वृक्षारोपण : एक कदम प्रकृति की ओर’ एवं सम्पूर्ण ब्लॉग परिवार की ओर से हम उन्हें पुत्री रूपी दिव्य ज्योत्स्ना की प्राप्ति पर बधाई देते हैं। इसके साथ ही उनकी पुत्री के निरोगी, सुखी, शान्तिपूर्ण, यशस्वी जीवन के लिये शुभकामनायें प्रेषित करते हैं।

नाम :  श्रीमती कुसुम
वृक्ष का प्रकार : आम
वृक्ष का नाम : मौलि
रोपण स्थल : बहराइच, उ.प्र.
अवसर : बेटी के जन्म पर
कोड (संस्था प्रदत्त) : M14022011_10009

21 comments:

  1. Bahut,bahut badhayi! Putree ke janm kee bhee aur vruksharopankee bhee!Khoob phoole phale aapka ye prayas!Laakhon ped lag jayen!

    ReplyDelete
  2. श्रीमती कुसुम ji aapko badhai or bitiya ko dheron shubhkaamnayen,

    ReplyDelete
  3. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (17-2-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

    http://charchamanch.blogspot.com/

    ReplyDelete
  4. badhi
    or gudiya ko dher sari subhkamnaye

    ReplyDelete
  5. श्रीमती कुसुम जी एवं उनकी पुत्री कों शुभकामनाएं ।

    ReplyDelete
  6. बेटी के जन्म के अवसर पर वृक्ष लगाकर कुसुम जी ने बहुत ही पुण्य का काम किया है।

    ReplyDelete
  7. मानवता के हित में एक शुभ कार्य।

    ReplyDelete
  8. बेटी के जन्म के अवसर पर वृक्ष लगाकर कुसुम जी ने बहुत ही पुण्य का काम किया है।

    ReplyDelete
  9. वृक्ष प्रतीक हैं-स्थिरता के,दानवीरता के और अपनी जड़ों से जुड़े रहने के।

    ReplyDelete
  10. यहाँ अंडमान में मैंने भी तो ममा-पापा के साथ पौधा लगया है ...अच्छा लगता है ये सब.
    ______________________________
    'पाखी की दुनिया' : इण्डिया के पहले 'सी-प्लेन' से पाखी की यात्रा !

    ReplyDelete
  11. bouth he aache shabad dear.....:D

    Everyday Visit Plz.....Thanx
    Lyrics Mantra
    Music Bol

    ReplyDelete
  12. आपको शुभकामना हेतु बहुत धन्यवाद.
    --मनोज मिश्र

    ReplyDelete
  13. आपकी इस पहल में हम भी साथ हैं ..हमारी भी शुभकामना

    ReplyDelete
  14. net kharab hone ke karan nahi aa saki waqt par ,magar ye andaj pasand aaya isme dohri khushi hai jeevan ki .sundar ati sundar aur badhai .

    ReplyDelete
  15. वाह अद्भुत अभिनव सोच और कार्यान्वयन

    ReplyDelete
  16. आदरणीय महोदय

    आपका यह शुभ संकल्‍प, वृक्षों के प्रति जनजागरण एक अत्‍यन्‍त महत्‍वपूर्ण व पवित्र कार्य है ।

    हम आपके प्रयास की प्रसंसा करते हैं तथा यथाशक्‍य सहयोग का विश्‍वास दिलाते हैं ।।


    आपका संस्‍कृतलेखन अतीव सुन्‍दर है

    आपकी ही तरह से हमने भी संस्‍कृत के प्रसार हेतु शुभ संकल्‍प लिया है, आप कृपया संस्‍कृतम्-भारतस्‍य जीवनम् जालपृष्‍ठ के लेखक बनना स्‍वीकार करें व यदा कदा संस्‍कृत के लेख लिखकर इस भाषा के प्रसार में अपना अमूल्‍य योग दें ।


    यदि मेरा निमन्‍त्रण स्‍वीकार हो तो कृपया अपना ईसंकेत दें जिससे आपको ब्‍लागलेखन का निमन्‍त्रण भेजा जा सके । हमारा ई संकेत pandey.aaanand@gmail.com है ।

    धन्‍यवाद


    भवदीय:-आनन्‍द:

    ReplyDelete
  17. bahut sundar v sarahniy prayas.vastav me prakriti ke astitva se hi hamara astitva hai..

    ReplyDelete
  18. श्रीमती कुसुम जी एवं उनकी पुत्री कों शुभकामनाएं ।

    ReplyDelete